भानपुर कलां में चल रहे राष्ट्रीय युवा एकता शिविर का समापन,पानी के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की 2 करोड़ रूपये की घोषणा


मायादेवी कांकरेलिया (संवाददाता) जमवारामगढ़/जयपुर—भानपुर कलां कस्बा के सरकारी स्कुल में 8 जून से गांधीवादी विचारक डॉ. एसएन सुब्बाराव के नेतृत्व में चल रहे दस दिवसीय राष्ट्रीय युवा शिविर का सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक अशोक गहलोत के मुख्य अतिथि एवम् विधायक गोपाल मीना की अध्यक्षता में समापन किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में शांति व सद्भावना के लिए राजस्थान में शांति एवं सद्भावना विभाग की स्थापना की जायेगी ताकि लोगों में आपसी भाईचारा कायम किया जा सके। महात्मा गांधी के विचारों को जीवन में उतारना चाहिए।

छह दशक से हिंदुस्तान में डॉ. सुबाराव जी शांति एवं सद्भावना के लिए देशभर में राष्ट्रीय युवा एकता शिविर लगा रहे हैं यह युवाओं को दिशा देने के लिए एक बहुत बड़ी मिसाल है। भाईजी प्रेरणा प्राप्त करते हैं इसे आप नौजवानों को सन्देश देकर चरित्रवान बना सकते हो जिससे देश में एकता कायम हो सके शिविर लगाने के बाद शांति व सद्भावना एवं एकता के बारे में आप लोग जा यहां से सीख कर जाते हैं। उन्होंने बताया कि 13 साल की उम्र में गांधीजी से प्रेरणा लेकर सुब्बाराव देश में शांति एवम् सद्भावना का सन्देश देशवासियों को देने के लिए निकल पड़े। गांधी जी के पद चिन्हों पर चलने के लिए प्रेरित कर रहे है। सन् 1951 से भाईजी ने भारत जोड़ों अभियान शुरू किया तब से देशभर में युवाओं के शिविर आयोजित कर रहे है।

इससे पहले गांधीवादी विचारक डॉ एस एन सुब्बाराव ने कार्यक्रम में कहा कि जब मैं यूएन में लोगों संबोधित किया तो मैंने वहां पर देखा कि दुनिया के 193 देशों में भारत देश सबसे महान देश और उसकी महानता भारत की विभिन्न भाषाओं, विभिन्न धर्मों, विभिन्न संस्कृति के लोग रहने के कारण ही महान देश है। लोगों ने धर्म के आधार पर भारत के टुकड़े टुकड़े कर पाकिस्तान और बांग्लादेश बना दिया यह बहुत गलत बात है हमारे देश में हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई पारसी सब प्यार से रहते हैं तो कहां जरूरत पड़ रही है भारत के टुकड़े टुकड़े करने की। हमे गंदे गानों को छोड़कर चरित्रवान बनना चाहिए और देश में भारत माता का प्यारा गीत "एक दुलारा देश हमारा प्यारा हिंदुस्तान "दुनिया में बेजोड़ अनोखा भारतवर्ष महान" जैसे गाने होने चाहिए। इससे पहले जमवारामगढ़ विधायक गोपाल मीना एवं सरपंच रामसहाय कांकरेलिया एवं ग्रामीणों द्वारा द्वारा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सूत की माला पहनाकर स्वागत किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधायक गोपाल मीना ने कहा कि भाईजी ने गांधीजी के विचारों को आगे बढ़ाने के काम किया है। ऐसे शिविरों का समय समय पर आयोजन होता रहना चाहिए। जिससे देश में शांति व सद्भावना कायम रहे और देश के युवा चरित्रवान बने। विधायक मीना ने कहा कि गहलोत जी पहले भी मुख्यमंत्री बने जब भी जमवारामगढ़ के विकास में कोई कसर नही रखी और हमे उम्मीद है कि इस बार भी कोई विकास कार्यों में कोई खसर नहीं रखेंगे।

इस मौके पर पूर्व विधायक रामचन्द्र सराधना, प्रधान रामजीलाल मीना, उप प्रधान रामफूल गुर्जर, धोला सरपंच मुकेश सैनी, भुरानपूरा सरपंच दिनेश कुमार बुनकर, जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव, बासना सरपंच रेखा मीना, शिविर प्रभारी हनुमान सहाय नायला, भारत की संतान कार्यक्रम के प्रभारी नरेंद्र भाई महाराष्ट्र, कार्यालय प्रभारी धर्मेंद्र भाई दिल्ली, जोरा ग्वालियर से शीतल भाई , केरल से प्रशांत भाई सतीश शर्मा बस्सी, कमलेश मीना कुकस, सूरज शर्मा, स्काउट सी ओ एल आर शर्मा, राधेश्याम बोंपला, देशबन्दु शर्मा, रामकिशोर शर्मा नायला, जितेन्द्र खोलिया बस्सी, समाजसेवी सरिता योगी, प्रदेश महिला कांग्रेस महासचिव तारा बेनीवाल, नवयुवक मण्डल अध्यक्ष अशोक शर्मा, कमलेश मीना कूकस, सुरेश शर्मा सांगानेर, सुरेन्द्र सिंह चारण, अब्दुल गनी आदि सहित अनेक नागरिक मौजूद थे।

विकास कार्यों के लिए की कई घोषणाएं:—
सरपंच रामसहाय कांकरेलिया द्वारा मुख्यमंत्री को गांव में पानी की समस्या, राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन, ग्राम पंचायत के लिए भवन निर्माण की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पानी के लिए 2 करोड़ रूपये की घोषणा की। ग्राम पंचायत भवन निर्माण के लिए विधायक गोपाल मीना को विधायक कोष से निर्माण करवाने। साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन निर्माण भी जल्द करवाने की घोषणा की।

Comments