पश्चिम बंगाल के चिकित्सक के साथ मारपीट के विरोध के चलते जैसलमेर में चिकित्सक सेवाएं रही बाधित


रमेश शर्मा (ब्यूरो चीफ) जैसलमेर—पश्चिमी बंगाल के नीलरतन सरकारी मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों के साथ हुई मारपीट के विरोध में सोमवार को जैसलमेर मे भी अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के बैनर तले चिकित्सक सेवाए ठप्प रही। अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के सचिव राजेन्द्र पालीवाल व इंडियन मेडिकल एसोसिएशन  के सचिव डॉ. बी के आर्य के नेतृत्व में सभी चिकित्सको ने सोमवार को कार्य बहिष्कार किया जिससे सभी चिकित्सालयो में काम ठप्प रहा।

जिला मुख्यालय स्थित सरकारी चिकित्सालय के चिकित्सको सहित निजी चिकित्सको और जिले मे कार्यरत सेवारत चिकित्सको ने ओपीडी बन्द रखी। इस दौरान इमरजेंसी सेवाए यथावत रही। जिले के लगभग सभी चिकित्सक एक दिवसीय बहिष्कार में शामिल हुए। इस अवसर पर चिकित्सको ने पश्चिमी बंगाल की घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहाकि इस तरह डाक्टरो  के साथ मारपीट और दुर्व्यहार को बर्दास्त नही किया जाएगा। इस अवसर पर चिकित्सकों ने सरकार से चिकित्सकों के साथ हिंसक घटनाओं की रोकथाम करने की मांग करते हुए चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों के लिए कड़े सुरक्षा कानून बनाने की मांग की।

उन्होंने इस घटना के विरोध में प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा। शहर के निजी अस्पतालों के चिकित्सकों ने भी अपने क्लीनिकों में मरीजों को नही देखा। सोमवार को दिन भर मरीज चिकित्सको के हड़ताल पर चले जाने से परेशान रहे। शहर के किसी भी अस्पताल में मरीजों को राहत नही मिली। चिकित्सक संघों ने उचित कार्यवाही के अभाव में आंदोलन को आगे बढाने की चेतावनी दी।

Comments