दमकलों के सायरनों से जब गूंजा किशनगढ़ एयरपोर्ट,खुलासे के बाद ली राहत की सांस


विमल गौड़ (संवाददाता) किशनगढ़/अजमेर— किशनगढ एयरपोर्ट पर मंगलवार सांय पांच बजे आग आग के शोर के बाद दमकल के सायरन से गूंज उठा। तत्काल आग बुझाने वाली दमकल सहित एसडीएआरएफ, सिविल डिफेंस, आरएसी सहित एयरपोर्ट प्रशासन हरकत में आया और एक घंटे की मेहनत कर आग पर काबू पाया और घायलो को अस्पताल पहुचाया। जब लोगों को मालूम चला की यह फायर की मॉक एक्सरसाइज है तो लोगों ने राहत की सांस ली। एयरपोर्ट निदेशक अशोक कपूर ने बताया कि डीजीसीए के आदेशानुसार दो वर्ष में एक बार यह एक्सरासाइज पूरे प्लान के साथ एयरपोर्ट प्रशासन सहित स्टेट प्रशासन को लेकर की जाती है। यह सब फूल स्केल फॅायर एक्सरसाइज के तहत किया गया। प्रतिवर्ष आशिंक एक्सरसाइज की जाती है।


एयरपोर्ट के एसीटी टावर से शाम पांच बजे क्रेश बेल बजाकर एयरपोर्ट पर फूल एमरजेंसी घोषित की गई। एसीटी टावर से आग की सूचना मिलते ही एयरपोर्ट प्रशासन सर्तक हो गया और तत्काल इसकी सूचना अन्य विभागो को दी। पांच मिनट के अंदर एयरपोर्ट की दमकल सायरन बजाते हुए एयरपोर्ट परिसर में एसडीआरएफ, सिविल डिफेंस, आरएसी के अधिकारी व कर्मचारी, राजकीय यज्ञनारायण अस्पताल व मार्बल सिटी अस्पताल के चिकित्सक मौके पर पहुंच गए। जहां दमकल ने बड़ी आग को मात्र पांच मिनट में काबू पाया। इस दौरान एसडीआरएफ व सिविल डिफॅेंस के अधिकारियों व कर्मियों ने आग में झूलसे लोगो को बाहर निकालने का  सटिक अभ्यास किया। चिकित्सको ने तुरंत घायलो को उपचार किया। इस प्रकार सभी की सर्तकर्ता से बड़े कृत्रिम हादसे पर काबू पाया गया।

मॉक प्रदर्शन के बाद एयरपोर्ट परिसर में ही सभी विभागो के साथ बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में सभी विभागों की आपदा में की गई कार्यशैली पर विस्तार से चर्चा की गई। कमियों को बताया गया और उन्हें किस प्रकार सुधारा जा सकता है से अवगत कराया गया। अगर कोई आपदा आए तो उसे किस प्रकार मिलकर शीघ्र निपटा जा सकता है पर सुझाव लिए गए। अंत में एयरपोर्ट निदेशक कपूर ने सभी के प्रति आभार जताया।

Comments