विद्यालय में श्रावणी उपाकर्म पर्व मनाया और गूंजे वेद मंत्र, लगी यज्ञ में आहुतियां


राजेश कुमार वर्मा(संवाददाता) झड़वासा/अजमेर— झड़वासा कस्बे के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में सोमवार को वेद प्रचार सप्ताह के अंतर्गत श्रावणी उपाकर्म पर्व मनाया गया।

प्रधानाचार्य कौशल्या यादव ने बताया कि सोमवार को आर्य समाज की आचार्य जनों ने स्वाध्याय पर्व के उपलक्ष पर स्वामी चेतनानंद अलवर, श्रीनिवास भरतपुर, सत्यानंद व प्रकाश आनंद मथुरा तथा गोविंद सिंह अजमेर के द्वारा विद्यालय में पर्यावरण, विद्यालय व मन शुद्धि की पवित्रता के लिए सर्वप्रथम वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ यज्ञ का आयोजन किया।

जिसमें प्रधानाचार्य सहित विद्यालय के समस्त स्टॉफ व बच्चों ने भी आहुतियां लगाई तत्पश्चात आचार्य द्वारा विद्यालय प्रांगण में अपने प्रवचनो में आर्य का मतलब समझाते हुए बताया कि यह कोई धर्म मज़हब और संप्रदाय का नाम नहीं है जिसके आचरण में सभी गुण निहित होते हैं वही आर्य है इसलिए आर्य समाज का उद्देश्य संसार का उपकार करना अथार्थ शारीरिक, आत्मिक व सामाजिक उन्नति करना है और बताया कि परमात्मा ने हमें इस संसार में एक यथार्थ व शाश्वत जीवन जीने के लिए भेजा है जिसमें हमें इसी मानव शरीर में उसे ढूंढ कर अपनी पहचान करनी है।

और बच्चों को नैतिक शिक्षा में बताया कि मानव जीवन की चार अवस्थाओं में बच्चों की बाल्यावस्था में अपने माता पिता का कहना मानते हुए अपना लक्ष्य पढ़ाई पर पूरा ध्यान देना है अपने माता पिता व गुरुजनों का पूरा सम्मान करना है हमेशा अच्छी सोबत करनी है ताकि अपने जीवन में लक्ष्य को प्राप्त कर सफल हो सकें।

अंत में बताया कि हमेशा यज्ञ करो, वेद पढ़ो, सत्य बोलो और धर्म पर चलो। इस मौके पर समाज सेविका विमला पारीक, व्याख्याता हेमराज मेघवंशी, प्रतिभा शर्मा, मुकेश कुमार शर्मा, गोविंदराम शर्मा, महेश चंद कच्छावा, अब्दुल आहत और अब्दुल सयाज़ भी उपस्थित थे।

Comments