जमवारामगढ़: 11 महीने पुराने ब्लाइंड मर्डर का खुलासा: दो युवकों को किया गिरफ्तार

देवेंद्र शर्मा...
जयपुर के जमवारामगढ़ थाना इलाके में वृद्ध की हत्या के मामले का खुलासा करने में जयपुर ग्रामीण पुलिस ने सफलता हासिल की है। जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा के निर्देशन में गठित टीम ने ब्लाइंड मर्डर केस की गुत्थी सुलझाते हुये हत्या में शामिल दो युवकों को गिरफ्तार किया है। वृद्ध की हत्या आपसी रंजिश के चलते की गई थी। देवीलाल हत्याकांड ने राजनीतिक रंग लेकर इलाके में रोष फैला रखा था।

बता दें कि जमवारामगढ़ थाना इलाके में करीब 11 महीने पुराने ब्लाइंड मर्डर का खुलासा हो गया है। पुलिस ने वृद्ध देवीलाल मीणा की हत्याकांड में शामिल दो युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस गिरफ्तार में आए आरोपी प्रहलाद और महेंद्र है। पुलिस की माने तो हत्या आपसी विवाद के चलते की गई थी। 

मामले का खुलासा करते हुए आईजी रेंज एस.सेंगाथिर और एसपी शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि बीती 4 अक्टूबर 2019 की देर रात टोडामीणा गांव में दुकान के बाहर सो रहे 73 वर्षीय देवीलाल से अज्ञात लोगों ने मारपीट की थी। इस दौरान उसके सिर में गंभीर चोट लगने से उसे इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान देवीलाल की मौत होने के बाद इलाके में काफी रोष फैल गया था। मामले को लेकर राजनीतिक तूल भी दिया गया था।

ब्लाइंड मर्डर मामले के खुलासे में जुटी पुलिस को जानकारी लगी कि मृतक देवीलाल और हरिनारायण के बीच रास्ते को लेकर विवाद था। पुलिस ने साइबर सेल की सहायता से संदिग्धों के बारे में जानकारी जुटाकर पूछताछ की मामले का खुलासा हो गया। 

पुलिस की माने तो देवीलाल और हरिनारायण के परिवार में रास्ते को लेकर विवाद था। देवीाल ने हरिनारायण के घर में सामने दुकानें बनाकर पत्थर लगा दिए थे। वहीं हरिनारायण के बेटे महेंद्र की शादी समारोह के दौरान भी रिश्तेदारों को रास्ता नहीं दिया था। जिसके चलते आरोपी महेंद्र ने बदला लेने की नीयत से मारपीट कर देवीलाल की हत्या कर दी।

जमवारामगढ़ थाना इलाके में 11 महीने पुराने ब्लाइंड मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने में गठित टीम में लाखन सिंह, वृताधिकारी वृत, जमवारामगढ़, नरेन्द्र कुमार पु.नि. थानाधिकारी पुलिस थाना जमवारामगढ़, रामकिशोर उ.नि. तत्कालीन आईसी चौकी रायसर हाल थानाधिकारी,गोविन्दगढ़, शंकर लाल हैड कानि. 508 साईबर सेल, जयपुर ग्रामीण, रामस्वरुप कानि. 1870 पुलिस थाना जमवारामगढ़, पृथ्वीराज कानि. 1728 पुलिस थाना चन्दवाजी शामिल रहे।

Comments