Skip to main content

वार्ता के बाद लिया जाएगा हड़ताल का निर्णय, एम्बुलेंस कर्मचारियों से होगी वार्ता


देवेंद्र शर्मा...
राजस्थान एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन प्रदेशाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह शेखावत बताया कि एम्बुलेंस कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर सरकार को सोमवार से हड़ताल की चेतावनी दे रखी थी लेकिन आज परियोजना निदेशक अनिल पालीवाल ने कल सुबह 11 बजे वार्ता के लिए बुलाया गया है. बता दें कि एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों के साथ कल सुबह 11 बजे मिशन निदेशक नरेश कुमार ठकराल के कार्यालय में वार्ता होगी और अब वार्ता के बाद ही हड़ताल का निर्णय लिया जायेगा.

इस संदर्भ में शेखावत ने बताया कि एम्बुलेंस कर्मचारी अक्टूबर 2019 से अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत हैं लेकिन आजतक आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला जबकि एम्बुलेंस कर्मचारी पूरे कोराना काल में प्रथम सिपाही बनकर प्रदेशवासियों की सेवा कर रहे हैं लेकिन सरकार द्वारा एम्बुलेंस कर्मचारियों की अनदेखी कर रही है. उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन के प्रतिनिधि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारियों से पिछले 6 माह से लगातार वार्ताएं चल रही है.

बता दें कि कुछ दिन पूर्व राजस्थान एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन के बैनर तले जयपुर में एम्बुलेंस कर्मचारियों की प्रदेश स्तरीय बैठक आयोजित हुई. बैठक में बताया गया कि पिछले 6 माह से कर्मचारी अधिकारी को अपनी समस्याओं के बारे में अवगत करवा रहे हैं लेकिन कोई भी सुनवाई नहीं हो रही. एम्बुलेंस कर्मचारियों की सुनवाई नहीं होने के चलते बैठक में निर्णय लिया गया था है कि यदि हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो 12 अक्टूबर यानि सोमवार को पूरे प्रदेश में एम्बुलेंस सेवा बंद कर दी जायेगी. इस बैठक में एम्बुलेंस सेवा 108 व 104 के सभी जिलों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था.

राजस्थान एम्बुलेंस कर्मचारियों की विभिन्न परेशानियों...
शेखावत ने बताया कि एम्बुलेंस सेवा प्रदाता कम्पनी की तरफ से भी कर्मचारियों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जैसे एम्बुलेंस वाहनों मे समय पर डीजल नही डलवाना, मरम्मत कार्य समय पर नही करवाना, एम्बुलेस वाहनो मे कोरोना से सुरक्षा के लिए मास्क गल्फस सेनेटाइजर इत्यादि उपलब्ध नही करवाना, एम्बुलेंस कर्मचारीयो को बिना कारण कम्पनी के अधिकारीयो द्वारा परेशान करना, खटारा एम्बुलेंस वाहनों को जबदस्ती चलवाना व उनका डीजल एवरेज के लिए परेशान किया जाता है.

Comments

Popular posts from this blog

DSP का महिला कांस्टेबल के साथ नहाते हुए का अश्लील वीडियो वायरल, DGP ने किया सस्पेंड, DSP ने वीडियो को बताया फेक

देवेंद्र शर्मा... राजस्थान पुलिस की वर्दी को शर्मिंदा करने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर, एक महिला कांस्टेबल के साथ स्वीमिंग पूल में नहाते हुये व अश्लील हरकत करते हुये दिखाई दे रहे हैं। लेकिन हैरानी की बात यह है कि स्वीमिंग पूल में एक बच्चा भी साथ में है। डीएसपी बच्चे के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकत करने में मस्त हैं। वीडियो वायरल होते ही डीजीपी एमएल लाठर ने डीएसपी को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस संदर्भ में अजमेर आईजी एस. सेंगाथिर का कहना है कि जांच के बाद डीएसपी को सस्पेंड किया गया है। अभी विभागीय जांच जारी है। तो वहीं डीएसपी हीरालाल सैनी का कहना है कि वे महिला को नहीं जानते हैं। वीडियो पूरी तरह से फेक है। इसे एडिट करके वायरल किया जा रहा है। मामले में महिला कांस्टेबल ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में बताया कि कोई उनका फेक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा है। एनएनएच न्यूज इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

शास्त्री नगर थाना पुलिस को मिली सफलता: चिकित्साकर्मियों से मारपीट के मामले में दो आरोपियों को दबोचा

राजधानी जयपुर जिले के शास्त्री नगर थाना इलाके में स्थित सरकारी हॉस्पिटल में 2 दिन पूर्व चिकित्साकर्मियों से हुई मारपीट के मामले में शास्त्री नगर थाना पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि वैक्सीनेशन के दौरान चिकित्साकर्मियों से मारपीट हुई थी उसके बाद से ही नर्सिंग कर्मियों का प्रदर्शन करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग चल रही थी। मुकदमा दर्ज होते ही शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को धर दबोचा है। पकड़े गए आरोपियों का नाम आलोक त्रिवेदी और रोहन सिंह है, जिनसे पुलिस की पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि यह पूरी कार्रवाई शास्त्री नगर थाना अधिकारी दिलीप सिंह शेखावत के नेतृत्व में उनकी टीम ने अंजाम दिया है।

RAA की प्रदेश स्तरीय बैठक हुई आयोजित, 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए संयोजक नियुक्त

देवेंद्र शर्मा... जयपुर। राजस्थान एकाउन्टेन्ट्स एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय बैठक में संगठन के 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति का संयोजक बीकानेर के श्रीलाल भाटी को बनाया गया है। संघर्ष समिति संयोजक श्रीलाल भाटी ने विभिन्न जिला शाखाओं को प्रतिनिधित्व देते हुए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति की घोषणा की है। जिसमें संजय जैन, जयपुर को सचिव एवं 07 उप संयोजक 09 सह संयोजक 01 उपसचिव, वित्त प्रभारी शधनेश सेठी, मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल सहित 14 सदस्यों का मनोनयन किया गया है। साथ ही संघर्ष समिति संयोजक भाटी के संगठन की 05 सूत्रीय मांगों की पूर्ति हेतु सरकार की उदासीनता को देखते हुए आंदोलन के प्रथम चरण की घोषणा की गई है। इसी क्रम में आज प्रदेश सचिव संजय जैन के नेतृत्व में शिष्ट मण्डल निदेशक कोष एवं लेखा विभाग, जयपुर से मिला तथा संगठन की मांगो पर शीघ्र कार्यवाही हेतु निवेदन किया। इस दौरान मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल ने बताया कि शीघ्र ही चरण बद्ध आंदोलन प्रारम्भ किया जायेगा, जिसमें  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मागों की पूर्ति के संबंध में ट्वीट करना सरक