Skip to main content

ACB ने हाउसिंग बोर्ड के प्रोजेक्ट इंजीनियर को 1 लाख की रिश्वत लेते दबोचा


देवेंद्र शर्मा...
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जयपुर स्थित राजस्थान हाउसिंग बोर्ड में प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार शुक्रवार को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा. टेक्निकल बिड का काम कराने के लिए परिवादी से एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी गई थी. काम के बदले रिश्वत की राशि लेते हुए ही विजय कुमार को एसीबी ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

कार्रवाई को लेकर पुलिस इंस्पेक्टर नीरज भारद्वाज ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड में इलेक्ट्रिक ब्रांच में पद स्थापित प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार के खिलाफ एक ठेकेदार ने करीब 10 दिन पहले एसीबी में शिकायत दर्ज कराई थी. इस शिकायत में ठेकेदार ने बताया कि उसने प्रताप नगर में बन रहे कोचिंग हब में इलेक्ट्रिक का ठेका लेने के लिए एक फाइल हाउसिंग बोर्ड में लगाई थी.

इसके लिए बकायदा निविदा आमंत्रित की गई थी. इसी की टेक्निकल बिड की जांच करने का जिम्मा विजय कुमार के पास था. इस टेक्निकल बिड़ के संबंध में फाइल पास करने के एवज में विजय कुमार ने एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी. इस शिकायत के बाद एसीबी ने सत्यापन किया, जो सही निकला, ऐसे में शुक्रवार को उनके निवास पर की गई कार्रवाई में विजय कुमार को एक लाख रुपए लेते हुए पकड़ लिया.

Comments

Popular posts from this blog

DSP का महिला कांस्टेबल के साथ नहाते हुए का अश्लील वीडियो वायरल, DGP ने किया सस्पेंड, DSP ने वीडियो को बताया फेक

देवेंद्र शर्मा... राजस्थान पुलिस की वर्दी को शर्मिंदा करने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर, एक महिला कांस्टेबल के साथ स्वीमिंग पूल में नहाते हुये व अश्लील हरकत करते हुये दिखाई दे रहे हैं। लेकिन हैरानी की बात यह है कि स्वीमिंग पूल में एक बच्चा भी साथ में है। डीएसपी बच्चे के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकत करने में मस्त हैं। वीडियो वायरल होते ही डीजीपी एमएल लाठर ने डीएसपी को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस संदर्भ में अजमेर आईजी एस. सेंगाथिर का कहना है कि जांच के बाद डीएसपी को सस्पेंड किया गया है। अभी विभागीय जांच जारी है। तो वहीं डीएसपी हीरालाल सैनी का कहना है कि वे महिला को नहीं जानते हैं। वीडियो पूरी तरह से फेक है। इसे एडिट करके वायरल किया जा रहा है। मामले में महिला कांस्टेबल ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में बताया कि कोई उनका फेक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा है। एनएनएच न्यूज इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

बैंक डकैती की योजना बना रहे इनामी समेत 6 बदमाश गिरफ्तार, 16 पिस्टल, देशी कट्टे व 32 जिंदा कारतूस बरामद

जयपुर। अलवर जिले की सदर थाना पुलिस ने डीएसटी व क्यूआरटी टीम के सहयोग से शाहपुर रोड पर स्थित सामुदायिक कॉन्प्लेक्स में बैठकर दलालपुर के एसबीआई बैंक में डकैती डालने की योजना बना रहे 5 बदमाशों को पकड़ कर दो पिस्टल व एक देशी कट्टा, 10 जिंदा कारतूस, धारदार चाकू, मिर्च पाउडर, लोहे की सब्बल, प्लास्टिक की रस्सी व दो मोटरसाइकिल जब्त की। मौके से एक बदमाश फरार हो गया था, जिसे बहरोड़ थाना पुलिस ने डीएसटी के सहयोग से 4 देशी पिस्टल, 8 देशी कट्टे, दो पिस्टल की खाली मैगजीन व 22 जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार कर लिया। कार्रवाई को लेकर अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध डॉ. रविप्रकाश ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश महेश गुर्जर पुत्र हुकमचंद (26), विक्रम गुर्जर पुत्र सुवालाल (24), विक्रम उर्फ विक्की उर्फ विक्रम खटोटी पुत्र मांडा राम गुर्जर (28) व महिपाल गुर्जर पुत्र उदमी राम थाना हरसोरा जिला अलवर एवं मोहर सिंह गुर्जर पुत्र उग्रसेन (28) थाना बानसूर अलवर, विकास स्वामी पुत्र लादूराम (19) थाना प्रतापगढ़ जिला अलवर के रहने वाले है। इनमे मोहर सिंह गुर्जर, विक्रम उर्फ विक्की गुर्जर व महिपाल गुर्जर 5-5 हजार रुपये ई

शास्त्री नगर थाना पुलिस को मिली सफलता: चिकित्साकर्मियों से मारपीट के मामले में दो आरोपियों को दबोचा

राजधानी जयपुर जिले के शास्त्री नगर थाना इलाके में स्थित सरकारी हॉस्पिटल में 2 दिन पूर्व चिकित्साकर्मियों से हुई मारपीट के मामले में शास्त्री नगर थाना पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि वैक्सीनेशन के दौरान चिकित्साकर्मियों से मारपीट हुई थी उसके बाद से ही नर्सिंग कर्मियों का प्रदर्शन करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग चल रही थी। मुकदमा दर्ज होते ही शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को धर दबोचा है। पकड़े गए आरोपियों का नाम आलोक त्रिवेदी और रोहन सिंह है, जिनसे पुलिस की पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि यह पूरी कार्रवाई शास्त्री नगर थाना अधिकारी दिलीप सिंह शेखावत के नेतृत्व में उनकी टीम ने अंजाम दिया है।