पुलिया से नीचे गिरा कैमिकल से भरा ट्रक, ट्रक और क्रेन में बचाव के लिए लगे चार लोग झुलसे


जयपुर-दिल्ली नेशनल हाइवे पर कोटपूतली के नजदीक आज सवेरे एक बड़ा हादसा हो गया। पहले तो लोगों ने राहत की सांस ली कि ट्रक पलटने के बाद भी कोई हताहत या घायल नहीं हुआ। लेकिन जब ट्रक को सीधा किया जा रहा था तो उस दौरान धमाके के साथ आग लग गई। आग लगने से ट्रक, उसे सीधा करने आई क्रेन और ट्रक से फैला माल जलकर नष्ट हो गया। इस दौरान दोनो वाहनों में बैठे चार से पांच लोग भी झुलस गए। उनको बीडीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे के बाद दोनो ओर घंटो जाम के हालात बन गए। मौके पर वीडियो रिकाॅर्ड करने वालों की भी भारी भीड़ जमा हो गई। चार दमकलों की मदद से आग पर काबू पाने के लिए घंटो प्रयास किया जाता रहा। 

दरअसल दस चक्का ट्रक में पेंट और कैमिकल भरा हुआ था। उसके बाॅक्स बने हुए थे और बाॅक्सेज में यह माल भरा था। लेकिन आज सवेरे कोटपूतली से गुजरने के दौरान पुलिया पर चढते समय अचानक ट्रक चालक ट्रक से संतुलन खो बैठा और ट्रक बेकाबू होकर पुलिया से नीचे आ गिरा। ट्रक चालक और खलासी को लोगों ने दौड़कर बचाया। वे मामूली घायल हुए तो लोगों ने राहत की सांस ली। इस दौरान पुलिया के नीचे से कोई व्यक्ति भी नहीं गुजर रहा था इस कारण भी बड़ा हादसा टल गया था। ट्रक चालक ने बताया कि ट्रक में रखा माल बाॅम्बे से गाजियाबाद भेजा जा रहा था। कीमत करीब पचास लाख रुपए है। बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रक को सीधा करने का प्रयास क्रेन की मदद से शुरु किया। 

दो क्रेन लेकर पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रक को सीधा करने का प्रयास किया। एक क्रेन ट्रक को सीधा करने की कोशिश कर रही थी तो दूसरी उसमें रखे सामान को बाहर निकालने का प्रयास कर रही थी। लेकिन इस दौरान अचानक ट्रक के केबिन में शाॅर्ट सर्किट हुआ और अचानक धमाके के साथ आग लग गई। कैमिकल पहले ही ज्वलनशील था। उसने आग पकड ली। क्रेन चालक एक क्रेन को पीछे नहीं खींच सका तो क्रेन भी जल गई और इसी दौरान ट्रक का डीजल टैंक भी फट गया तो उसने भी आग पकड ली। इस दौरान वहां मौजूद चार लोग भी झुलस गए। बाद में उनको अस्पाल में भर्ती कराया गया। उसके बाद दमकलें लेकर पुलिस मौके पर फिर से पहुंची और आग पर काबू पाने का प्रयास शुरु किया। पुलिस ने बताया कि कैमिकल होने और ट्रक एवं क्रेन के टायर जलने के कारण आग की लपटें कई फीट तक उंची उठती गई। उसके साथ ही गहरा काला धुंआ कई फीट उपर तक फैल गया।

Comments