जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने 'सुरक्षा सखियों' से किया सीधा संवाद


जयपुर।
पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने वेबिनार पर महिलाओं एवं बालिकाओं से संबंधित समस्याओं और उनसे जुड़े अपराधों की रोकथाम पर सकारात्मक संवाद स्थापित करने के लिए बनाई गई "सुरक्षा सखियों" से सीधा संवाद किया।

पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने सुरक्षा सखियों को उनके दायित्वों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि महिलाओं की पूर्ण सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक नई योजना तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि निर्भया द्वारा महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित कार्य किए जा रहे हैं। अब निर्भया के माध्यम से जयपुर की महिलाओं को भी जोड़ा जा रहा है। अब तक 1700 से अधिक सुरक्षा सखियों को चिन्हित कर चयनित किया जा चुका है। सुरक्षा सखी पर यह दायित्व है कि वे अपने एरिया में किसी भी महिला के साथ दुर्व्यवहार, उनके सम्मान व गरिमा को ठेस पहुंचे तो सुरक्षा सखी उसकी समस्या को पुलिस तक पहुंचाएगी।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस आयुक्त द्वितीय, जयपुर राहुल प्रकाश ने कहा कि सभी परेशानियों के समाधान के लिए निर्भया व सुरक्षा सखी टीम का संचालन किया जा रहा है, जिसका उद्देश्य यही है कि महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। उनकी समस्या व शिकायत हमारे तक पहुंचाएं और हम उस पर प्रभावी कार्रवाई करें।

बता दें कि इस अवसर पर पुलिस उपायुक्त यातायात श्वेता धनखड़, पुलिस उपायुक्त मेट्रो, प्रभारी एवं नोडल अधिकारी निर्भया ऋचा तोमर, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त दक्षिण निर्भया सुनीता मीणा, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त उत्तर निर्भया मोहेश चौधरी, सहायक पुलिस आयुक्त दक्षिण निर्भया विक्रम सिंह, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त उत्तर निर्भया नरेंद्र दायमा भी उपस्थित रहे।

Comments