रीट परीक्षा में फर्जी छात्र बैठाने वाली गैंग के चार अभियुक्त गिरफ्तार


राजस्थान की दौसा पुलिस ने फर्जी अभ्यर्थी बैठा रीट परीक्षा पास कराने का झांसा देकर लाखो रूपये की मोटी रकम वसुलने वाली गैंग के चार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक ब्रेजा व एक क्रेटा कार व 5.60 लाख की नकदी बरामद की है। गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम रमेश मीना, दशरथ सिंह मीना, करण सिंह मीना और सुमेर मीना है। 

कार्रवाई को लेकर दौसा एसपी अनिल कुमार बेनीवाल ने बताया कि गिरफ्तार मुलजिमों के मोबाईल की चैकिंग में रीट भर्ती परीक्षा से संबंधित चैट व रिकाॅर्डिग मिली। पूछताछ किये जाने पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ में लिये गये करोडो रूपये के लेन देन का हिसाब मिला है। अभियुक्तो से कोचिंग संस्थानों व खोली गई लाईब्रेरियों से भी जुडे होने की बात सामने आई है जिसके बार में व गिरोह में शामिल अन्य अभियुक्तो के बारे में भी गहनता से पूछताछ की जा रही है।

जयपुर रेंज आईजी हवा सिंह घुमरिया व दौसा एसपी अनिल कुमार के निर्देशानुसार रविवार को आयोजित रीट परीक्षा को लेकर शहर में एएसपी लाल चन्द कायल व सीओ दीपक कुमार के सुपरविजन एवं थानाधिकारी कोतवाली दौसा लाल सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर परीक्षा में फर्जीवाडे को रोकने के लिए सख्ती से नाकाबन्दी की जा रही है। गश्त के दौरान टीम ने शहर में घूमती एक सन्दिग्ध क्रेटा कार का पीछा कर पीजी काॅलेज के सामने रूकवाया गया। कार में तीन युवक बैठे मिले। 

पूछताछ में संतोषप्रद जवाब नही मिलने पर कार की तलाशी ली तो कुल 5 लाख नगदी मिली। नगदी के बारें में सख्ताई से पूछा तो आरोपित रमेश व करण सिंह ने बताया कि रीट परीक्षा पास करवाने की एवज में हाल जयपुर निवासी राजेन्द्र मीना से वो ये रुपये लाये है। राजेन्द्र की जगह किसी दूसरे अभ्यर्थी को बैठा परीक्षा पास करवाने की एवज में सुमेर सिंह मीना निवासी मुडिया खेडा को 5 लाख रुपये देना बताया। इस पर सुमेर सिंह को भी गिरफ्तार किया गया।

Comments