मंत्री ने कहा- "जिस दिन भी सबूत मिलेगा,उस दिन सख्त कार्रवाई की जायेगी"


देवेंद्र शर्मा...
राजस्थान के नये चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा ने बुधवार को जयपुर स्थित सचिवालय में कार्यभार संभाला। कार्यभार संभालते ही मंत्री परसादी लाल मीणा कक्ष में मीडिया से रूबरू हुये। इस दौरान उन्होंने गहलोत सरकार की निशुल्क दवा योजना, जांच योजना व चि​रंजीवी योजना को लेकर मीडिया से विस्तार से चर्चा की। चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा ने स्पष्ट किया है कि हमारे लिये जनता सर्वोपरि है। हाईकमान ने मुझे जो जिम्मेदारी सौंपी है उसे में पूरी ईमानादी और कर्तव्यनिष्ठा के साथ निभाऊंगा। 

इस दौरान प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी हॉस्पिटल एसएमएस के दवा काउंटरों पर मरीजों पूर्ण दवा नहीं मिलने वाले प्रश्न पर मंत्री परसादी मीणा ने कहा कि यदि जिस दिन भी सबूत मिलेगा उस दिन सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि यह बात निराधार है, असत्य है। हॉस्पिटल में जितना सीएचसी, पीएचसी, डिस्टिक हॉस्पिटल में जितनी दवाई है यदि डॉक्टर उस दवाई को बाहर से ​लिखेगा तो कार्रवाई की जायेगी।

चिकित्सा मंत्री ने यह भी कहा कि हॉस्पिटल में सभी दवाइयां मिलेंगी, एक भी दवाई ऐसी नहीं है जो हॉस्पिटल में नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि आज ही कार्यभार संभाला है यदि कहीं कोई गेप होगा तो उसे दूर किया जायेगा। आपको बता दें कि एसएमएस हॉस्पिटल के दवा काउंटरों पर जब मरीज दवा लेने पहुंचता है तो उसे एक दवा काउंटर पर मिल जाती है और अन्य दवा हॉस्पिटल के बाहर बनी दुकानों से लेनी पड़ती है। ऐसा ही मामला दो दिन पूर्व सामने आया था जिसमें मरीज को एक दवा तो हॉस्पिटल के अंदर बने काउंटर से मिल गई लेकिन अन्य दो दवा एसएमएस हॉस्पिटल के बार बनी दुकानों से खरीदनी पड़ी। जिसका प्रमाण आप स्क्रीन पर साफ देख सकते हैं। इतना ही नहीं सूत्रों का कहना है कि कई बार तो चिकित्सकों को इंजेक्शन व कुछ दवाओं के लिये भी परेशान होना पड़ता है।

तो वहीं मंत्री परसादी लाल मीणा ने प्राइवेट हॉस्पिटल को हिदायत देते हुये कहा कि यदि चिरंजीवी योजना में कोई भी प्राइवेट हॉस्पिटल कोताही बरतेगा और शिकायत आने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि जनता का स्वास्थ्य हमारे लिये सर्वोपरि है उससे कोई समझौता नहीं करेंगे,जनता के हित के लिये हमकों कड़े कदम उठाने पड़ेंगे तो वह भी उठाये जायेंगे।

Comments