Skip to main content

कुलाधिपति मिश्र की अध्यक्षता में कुलपति समन्वय समिति की बैठक का प्रथम सत्र, राजस्थान को शिक्षा क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने का किया आह्वान


राजस्थान के राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक रिक्त पदों की स्थिति को गंभीरता से लेते हुए इन्हें भरने की कार्यवाही त्वरित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस संबंध में वित्त विभाग द्वारा आवश्यकतानुसार पदों को भरने की स्वीकृतियां जारी करने और विश्वविद्यालयों को भी स्वीकृत पदों पर नियुक्तियों की कार्यवाही समयबद्ध किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में किसी स्तर पर लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि राज्यपाल कलराज मिश्र सोमवार को राजभवन में कुलपति समन्वय समिति की बैठक के आरम्भिक सत्र में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों को परस्पर समन्वय रखते हुए कार्य करने और राजस्थान को शिक्षा क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने का आह्वान किया।

राज्यपाल मिश्र ने कहा कि गत दो वर्ष में कोविड की चुनौती के बावजूद विश्वविद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और नवीन संदर्भों में उच्च शिक्षा के विकास के लिए महत्वपूर्ण प्रयास हुए हैं। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षण से जुड़ी महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों में आपसी विचार-विनिमय और विश्वविद्यालय स्तर पर भी शिक्षकों एवं छात्रों से निरंतर संवाद जरूरी है।

कुलाधिपति मिश्र ने कहा कि विश्वविद्यालयों में पाठ्यक्रमों की स्वीकृति, संचालन और संकाय से जुड़ी नियुक्तियों और अन्य सभी व्यवस्थाओं में एकरूपता की नीति अपनाए जाने की आवश्यकता है। विश्वविद्यालयों में हो रहे नवाचारों, विद्यार्थी हित से जुड़े मुद्दों और शोध कार्यों की गुणवत्ता के लिए भी सभी को मिलकर कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नए स्वीकृत पदों को भरते समय पारर्दीशता पर विशेष जोर दिया जाए।

राज्यपाल ने नई शिक्षा नीति समग्रता और तत्परता से लागू करने पर बल देते हुए कहा कि विद्यार्थियों में कौशल विकास और रोजगारोन्मुखी शिक्षा के सबंध में भी विश्वविद्यालय गंभीर होकर प्रयास करें। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों को हमारी सांस्कृतिक विरासत और लोकतंत्र की भावना के प्रति विद्यार्थियों में आस्था पैदा करने का महती कार्य भी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों में संविधान पार्क की स्थापना का निर्णय करने के पीछे भी यही मंशा रही है। तो वहीं राज्यपाल के सचिव सुबीर कुमार ने स्वागत उद्बोधन में समन्वय बैठक के एजेण्डा बिन्दुओं के बारे में जानकारी दी।

बैठक में स्कूल शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री राजेन्द्र सिंह यादव, कौशल, रोजगार एवं उद्यमिता राज्य मंत्री अशोक चांदना, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्कूल शिक्षा पवन कुमार गोयल, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के शासन सचिव नारायण लाल मीणा, श्रम एवं कौशल विभाग के सचिव भानू प्रकाश येतुरु, कॉलेज शिक्षा आयुक्त शुचि त्यागी, वित्त (व्यय) के विशिष्ट सचिव नरेश कुमार ठकराल, वित्त (बजट) के विशिष्ट सचिव सुधीर कुमार शर्मा, राज्यपाल के प्रमुख विशेषाधिकारी गोविन्द राम जायसवाल सहित प्रदेश के सभी राज्य पोषित विश्वविद्यालयों के कुलपतियों एवं राजभवन के अधिकारियों ने भाग लिया।

Comments

Popular posts from this blog

DSP का महिला कांस्टेबल के साथ नहाते हुए का अश्लील वीडियो वायरल, DGP ने किया सस्पेंड, DSP ने वीडियो को बताया फेक

राजस्थान पुलिस की वर्दी को शर्मिंदा करने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर, एक महिला कांस्टेबल के साथ स्वीमिंग पूल में नहाते हुये व अश्लील हरकत करते हुये दिखाई दे रहे हैं। लेकिन हैरानी की बात यह है कि स्वीमिंग पूल में एक बच्चा भी साथ में है। डीएसपी बच्चे के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकत करने में मस्त हैं। वीडियो वायरल होते ही डीजीपी एमएल लाठर ने डीएसपी को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस संदर्भ में अजमेर आईजी एस. सेंगाथिर का कहना है कि जांच के बाद डीएसपी को सस्पेंड किया गया है। अभी विभागीय जांच जारी है। तो वहीं डीएसपी हीरालाल सैनी का कहना है कि वे महिला को नहीं जानते हैं। वीडियो पूरी तरह से फेक है। इसे एडिट करके वायरल किया जा रहा है। मामले में महिला कांस्टेबल ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में बताया कि कोई उनका फेक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा है। एनएनएच न्यूज इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

विद्याधर नगर थाना पुलिस की बड़ी कार्रवाई : मोबाइल स्नेचिंग व वाहन चोर गैंग का किया खुलासा...

देवेंद्र शर्मा... राजधानी जयपुर जिले की विद्याधर नगर थाना पुलिस ने शुक्रवार को मोबाइल स्नैचिंग व वाहन चोर गैंग का खुलासा किया है। कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है और इनके पास से पांच दुपहिया वाहन व मोबाइल भी बरामद किए हैं। पकड़े गए तीनों आरोपियों का नाम शाहरुख उर्फ मोटा, समीर उर्फ चांद और मोहम्मद इस्तखार है। कार्रवाई को लेकर विद्याधर नगर SHO वीरेंद्र कुरील ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ शहर के विभिन्न थानों में प्रकरण दर्ज है। यह आरोपी नशे की लत को पूरा करने के लिए वारदात को अंजाम देते थे, फिलहाल पकड़े गए गैंग के इन तीनों सदस्यों से गहनता से पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि विद्याधर नगर SHO वीरेंद्र कुरील के नेतृत्व में उनकी टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। उक्त कार्रवाई का खुलासा करने में कांस्टेबल गिरधारी लाल की विशेष भूमिका रही है। तो वहीं आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए बनाई गई विशेष  टीम में स.उ.नि. मुकेश कुमार, मदन सिंह, एचसी कैलाश चंद, कांस्टेबल गिरधारीलाल, मुकेश चंद और दीपक कुमार शामिल थे।

कैदी से इश्क कर बैठीं जज,जेल में लगे CCTV कैमरे में 'किस' करते हुये रोमांस कैद,CCTV फुटेज निकाला तो संबंधित अधिकारी हैरान

जेल के अंदर से कैदियों के तमाम कारनामे सामने आते रहते हैं लेकिन अर्जेंटीना की एक जेल से एक ऐसा नजारा सामने आया है जो कल्पना से बिल्कुल अलग हटकर है। ना ही अभी तक किसी ने ऐसा मामला सुना होगा। जो कि जेल में सीसीटीवी कैमरे में एक ऐसा रोमांस कैद हो गया जिसके बारे सोचकर सब हैरान रह गये। बता दें कि जेल में कैद एक हत्या आरोपी कैदी से वहां की जज इश्क फरमाती नजर आईं। इतना ही नहीं उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ जिसमें वे कैदी को किस करती नजर आ रही हैं। दरअसल, यह पूरा मामला अर्जेंटीना के दक्षिणी प्रांत स्थित एक जेल का है। डेली मेल की एक ऑनलाइन रिपोर्ट के मुताबिक यहां एक हत्या के केस में क्रिस्टियन बस्टोस अपराधी दोषी साबित हो चुके हैं। उसने अपने साथी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह कैदी अभी सजा काट रहा है उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इस दौरान मारियल सुआरेज नाम की जज जेल में कैदी से मिलने जाया करती थीं। उन्होंने बताया कि केस की स्टडी के लिए वे उससे मिलने जाती थीं। और इसी बीच जज मारियल सुआरेज को बीते 29 दिसंबर को जेल में उसी कैदी को किस करते हुए देखा गया। सत्यता के लिए सीसीटीवी फुटेज निकाला गया तो स