Skip to main content

राजस्थान में बढ़ते महिला अपराधो को लेकर प्रियंका गांधी पर निशाने साधने की सजा दे रही है कांग्रेसः जितेन्द्र गोठवाल

जयपुर। भाजपा मुख्यालय में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कांग्रेस सरकार द्वारा प्रदेश मंत्री जितेन्द्र गोठवाल सहित भाजपा कार्यकर्ताओं पर राजनीतिक द्वेष के चलते षडयंत्रपूर्वक अपराधिक मुकदमें दर्ज किये जाने के मामले को लेकर प्रेसवार्ता की।

 राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था के बावजूद कांग्रेस सरकार के रसूखदार नेता लगातार किसी न किसी जुर्म में पुलिस की गिरफ्त से बच जाते है, लेकिन राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के चलते द्वेषपूर्वक भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिसतंत्र के बल पर एक प्रचंड प्रताड़ना का कार्य सरकार ने प्रारंभ किया है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष पर अलग-अलग थानों में 8 मुकदमें, दो मुकदमें स्वयं (राजेन्द्र राठौड़) पर व लगभग 212 मुकदमें राजस्थान भर में अलग-अलग जगहों पर भाजपा के कार्यकर्ताओं पर प्रदर्शन-आंदोलन-धरने के कारण दर्ज किये गए है।

राठौड़ ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि, प्रदेश की पुलिस कटपुतली बनकर रह गई है, बीकानेर में भाजपा कार्यकर्ताओं पर बिजली कटौती के विरूद्ध में ज्ञापन देने पर एट्रोसिटी एक्ट, राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज करना, वहां के जिलाध्यक्ष, प्रदेश उपाध्यक्ष व कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज करते है, मुख्यमंत्री गहलोत आईपीसी का माखौल बनाकर गहलोत पेनल कोड चला रहे है। 

तो वहीं भाजपा प्रदेश मंत्री जितेन्द्र गोठवाल ने डॉ. अर्चना शर्मा मामले की जानकारी साझा करते हुए कहा कि इस प्रकरण में आशा बैरवा की मौत 12 बजे, 28 मार्च 2022 डिलिवरी के दौरान होने के बाद, मुआवजे की मांग को लेकर 2 बजे धरना करते है और शाम 6ः50 पर पुलिस द्वारा डॉ. अर्चना शर्मा के खिलाफ धारा 302 में मामला दर्ज कर लेती है।

इस पूरे घटनाक्रम के साढ़े 9 घंटे बाद घटनास्थल पहुंचकर, 1 घंटे वहां रुकने के बाद तहसीलदार और पटवारी के माध्यम से सरकारी योजनाओं सहित 10 लाख मुआवजे पर सहमति बनी, जिसके बाद सवाई माधोपुर निकल गया था, अगले ही दिन मेरी जानकारी में आया कि कांग्रेस मंत्री प्रसादीलाल मीणा द्वारा डॉ. अर्चना शर्मा व उसके परिवार व मृतक परिवार पर दबाव बनाकर मंत्री के नजदीकी लोगों द्वारा समझौता पत्र तैयार कर 3 लाख रूपये की राशि दी गई।

पुलिस के अनुसार आशा बैरवा के परिवार के लोगों के पास 3 लाख रूपये बरामद हुए, जो समझौते में दिए गए थे, जबकि प्रदर्शन-धरना करने वाले लोगों ने मुआवजा सरकार से मांगा था डॉ. अर्चना से नहीं, फिर भी मुझे गिरफ्तार किया गया, क्योंकि 3 दिन पहले प्रियंका गांधी को राजस्थान में बढ़ते महिला अपराध पर चेताते हुए ट्रैन की टिकट भेजी थी, साथ ही पिछले 3 सालों में मैंने भरतपुर संभाग में लगभग 25 धरना-प्रदर्शन सरकार के खिलाफ किए। इसके चलते द्वेष्तापूर्ण सरकार ने मुझे झूंठा फंसाया है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की जाए।

Comments

Popular posts from this blog

DSP का महिला कांस्टेबल के साथ नहाते हुए का अश्लील वीडियो वायरल, DGP ने किया सस्पेंड, DSP ने वीडियो को बताया फेक

देवेंद्र शर्मा... राजस्थान पुलिस की वर्दी को शर्मिंदा करने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर, एक महिला कांस्टेबल के साथ स्वीमिंग पूल में नहाते हुये व अश्लील हरकत करते हुये दिखाई दे रहे हैं। लेकिन हैरानी की बात यह है कि स्वीमिंग पूल में एक बच्चा भी साथ में है। डीएसपी बच्चे के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकत करने में मस्त हैं। वीडियो वायरल होते ही डीजीपी एमएल लाठर ने डीएसपी को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस संदर्भ में अजमेर आईजी एस. सेंगाथिर का कहना है कि जांच के बाद डीएसपी को सस्पेंड किया गया है। अभी विभागीय जांच जारी है। तो वहीं डीएसपी हीरालाल सैनी का कहना है कि वे महिला को नहीं जानते हैं। वीडियो पूरी तरह से फेक है। इसे एडिट करके वायरल किया जा रहा है। मामले में महिला कांस्टेबल ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में बताया कि कोई उनका फेक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा है। एनएनएच न्यूज इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

शास्त्री नगर थाना पुलिस को मिली सफलता: चिकित्साकर्मियों से मारपीट के मामले में दो आरोपियों को दबोचा

राजधानी जयपुर जिले के शास्त्री नगर थाना इलाके में स्थित सरकारी हॉस्पिटल में 2 दिन पूर्व चिकित्साकर्मियों से हुई मारपीट के मामले में शास्त्री नगर थाना पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि वैक्सीनेशन के दौरान चिकित्साकर्मियों से मारपीट हुई थी उसके बाद से ही नर्सिंग कर्मियों का प्रदर्शन करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग चल रही थी। मुकदमा दर्ज होते ही शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को धर दबोचा है। पकड़े गए आरोपियों का नाम आलोक त्रिवेदी और रोहन सिंह है, जिनसे पुलिस की पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि यह पूरी कार्रवाई शास्त्री नगर थाना अधिकारी दिलीप सिंह शेखावत के नेतृत्व में उनकी टीम ने अंजाम दिया है।

RAA की प्रदेश स्तरीय बैठक हुई आयोजित, 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए संयोजक नियुक्त

देवेंद्र शर्मा... जयपुर। राजस्थान एकाउन्टेन्ट्स एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय बैठक में संगठन के 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति का संयोजक बीकानेर के श्रीलाल भाटी को बनाया गया है। संघर्ष समिति संयोजक श्रीलाल भाटी ने विभिन्न जिला शाखाओं को प्रतिनिधित्व देते हुए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति की घोषणा की है। जिसमें संजय जैन, जयपुर को सचिव एवं 07 उप संयोजक 09 सह संयोजक 01 उपसचिव, वित्त प्रभारी शधनेश सेठी, मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल सहित 14 सदस्यों का मनोनयन किया गया है। साथ ही संघर्ष समिति संयोजक भाटी के संगठन की 05 सूत्रीय मांगों की पूर्ति हेतु सरकार की उदासीनता को देखते हुए आंदोलन के प्रथम चरण की घोषणा की गई है। इसी क्रम में आज प्रदेश सचिव संजय जैन के नेतृत्व में शिष्ट मण्डल निदेशक कोष एवं लेखा विभाग, जयपुर से मिला तथा संगठन की मांगो पर शीघ्र कार्यवाही हेतु निवेदन किया। इस दौरान मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल ने बताया कि शीघ्र ही चरण बद्ध आंदोलन प्रारम्भ किया जायेगा, जिसमें  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मागों की पूर्ति के संबंध में ट्वीट करना सरक