Skip to main content

विश्व की सबसे ऊंची 369 फीट की शिव प्रतिमा ‘विश्वास् स्वरूपम‘: पर्यटकों के लिए बेहद खास बात, शिव प्रतिमा के अंदर है चार लिफ्ट की सुविधा


राजस्थान के राजसमंद जिले के नाथद्वारा में तत पदम् संस्थान की ओर से श्रीनाथजी की नगरी नाथद्वारा में विश्व की सबसे ऊंची 369 फीट की शिव प्रतिमा ‘‘विश्वास् स्वरूपम के लोकार्पण के साथ ही नाथद्वारा को पर्यटन क्षेत्र को गति मिलने लगी है अभी इन दिनों संत मुरारी बापू की राम कथा चल रही है. जिसमें लाखों की तादाद में श्रद्धालु आ रहे हैं और शिव की प्रतिमा को देख रहे हैं. बता दें कि हरी भरी वादियों को विकसित कर बनाई गई विश्व की सबसे ऊंची 369 फीट की शिव प्रतिमा के भ्रमण को लेकर कुछ खास बातें हैं. सबसे पहले प्रतिमा स्थल पर प्रवेश करते ही पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर टिकट लेकर 200 मीटर दूर स्थित पार्क के एंट्री गेट तक पैदल व गोल्फ कार्ट से आ सकेंगे जानकारी के अनुसार दिसम्बर तक टिकट प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

मुख्य प्रवेश द्वारः-
पार्किंग स्थल से 200 मीटर की दूरी पर आकर्षक मेन एन्ट्री गेट बनाया गया है. मेन गेट से एंट्री करते ही आपको महसूस होगा की आप किसी खास जगह पर है. मेन एन्ट्री गेट पर ही आपको संपूर्ण क्षेत्र की सारी जानकारी भी उपलब्ध हो जायेगी. अर्ध चंद्राकर में बने मेन एंट्री गेट के दोनों ओर भगवान की प्रतिमाएं और बीच में एक शिवलिंग लगाया गया है.

जिप लाइनः-
नाथद्रारा श्रीजी की नगरी धार्मिक पर्यटन नगरी के रूप में जानी जाती थी, लेकिन अब ‘‘विश्वास् स्वरूपम् में एडवेंचर ट्यूरिज्म को भी उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया है. यहां विश्व स्तरीय बेहतरीन जिप लाईन का निर्माण किया गया. जिप लाइन पर्यटकों को रोमांचित करेगा तथा सैलानी विश्व स्तर की साहसिक गतिविधि का लाभ उठा सकेंगे. जिप लाइन आमतौर पर स्टेनलेस स्टील से बनी होती है तथा इसे ढलान पर लगाई जाती है.

जंगल कैफेः-
आपको बता दें कि विश्वास् स्वरूपम् परिसर मे जंगल कैफे भी बनाया गया हैं. इस एरिया में पर्यटकों को घने जंगल की ओर जंगल सफारी का अहसास होगा.

संगम स्थलः-
इस परिसर में एक संगम स्थल भी विकसित किया गया हैं. यहां पर्यटक नंदी एवं शिव प्रतिमा के साथ सेल्फी भी ले सकेंगे. यहां 5 रास्तों का मिलन होने के कारण भी इसे संगम स्थल कहा जाता हैं.

नंदी की प्रतिमाः-
विश्वास् स्वरूपम में जहां भगवान शिव की प्रतिमा अल्हड़ मुद्रा में नजर आती है तो वहीं यहां स्थापित 21 फीट की नंदी की प्रतिमा भी मस्त मुद्रा में दिखती है. नंदी के तीन पैर जमीन पर तथा एक पैर हवा में इसकी मस्त मुद्रा को बयां करता है. नंदी की इस तरह की प्रतिमा को बहुत कम दृश्टिगोचर होती है. नंदी को भगवान शिव के धाम का द्वारपाल भी माना गया है.

ओपन थियेटरः-
ओपन थियेटर को गार्डन थियेटर को पंचकोण आकार में विकसित किया गया है. इस थियेटर की सैंकडों की दर्शक क्षमता है. रात में भी इसका उपयोग होने की स्थिति पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था की गई है.

हरिहर सेतूः-
बता दें कि शिव प्रतिमा के सामने कृतिम तालाब बनाया गया हैं ओर इस तालाब के ऊपर हरिहर सेतू बनाया गया है.

म्यूजिकल फाउंटेनः-
इस क्षेत्र में 15000 वर्ग फीट एरिये में म्यूजिकल फाउंटेन भी विकसित किया गया है. इसके नजदीक ही स्टेडियम नुमा सीढ़ीयों का निर्माण भी किया गया है. ताकि पर्यटक आराम से बैठकर म्यूजिकल फाउंटेन का आंनद ले सके.

वीआर गेमः-
विश्व स्तरीय सुविधाओं के लिए यहां वर्चुअल रियलिटी गेम जोन बनाकर मनोरंजन के क्षेत्र स्थापित किया गया है तो वहीं यहां पर पर्यटक विभिन्न प्रकार के खेलों का आनंद ले सकेंगे.

फूड कोर्टः-
इस परिसर में घूमने फिरने के दौरान लगी आपकी तृष्णा को शांत करने के लिए सर्व सुविधायुक्त बेहतरीन फूड कोर्ट में भी विकसित किया गया है. यहां आपकों खान पान संबंधित चटपटे व्यंजन, मिठाई सहित सभी वस्तु फ्रेश उपलब्ध होगी.

बंजी जंपिंग,अमेरिका से मंगवाये रस्सेः-
विश्व स्तरीय सुरक्षा उपकरणों से सुसज्जित कृत्रिम रूप से देश् का सबसे ऊंचा बंजी जंपींग टावर यहां स्थापित किया गया है. टॉवर बेस्ड इस जंपिंग की ऊंचाई 185 फ़ीट है. इसमें प्रयुक्त होने वाले रस्से भी विशेष तौर पर अमेरीका से मंगवायें गये है. पर्यटकों की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जायेगा तथा समय समय पर सुरक्षा मापदण्डों को जांचा व परखा भी जायेगा. यहां 10 मीटर का ग्लास वॉक भी बनाया गया हैं.

व्यूइंग गैलरीः-
रोमांच को बरकरार रखने के लिए विश्व की सबसे ऊंची 369 फीट की शिव प्रतिमा में व्यूइंग गैलरी भी बनाई गई है. 270 से 280 फीट ऊंचाई पर इस व्यूइंग गैलरी से आप यहां आप अरावली पहाड़ियों के आस पास के नजारे का आनंद ले सकेंगे. यहां सीढ़ीयां भी ग्लास की ही बनाई गई है. व्यूइंग गैलरी में जाने के लिए पर्यटक लिफ्ट तथा सीढ़ियों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Comments

Popular posts from this blog

DSP का महिला कांस्टेबल के साथ नहाते हुए का अश्लील वीडियो वायरल, DGP ने किया सस्पेंड, DSP ने वीडियो को बताया फेक

देवेंद्र शर्मा... राजस्थान पुलिस की वर्दी को शर्मिंदा करने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर, एक महिला कांस्टेबल के साथ स्वीमिंग पूल में नहाते हुये व अश्लील हरकत करते हुये दिखाई दे रहे हैं। लेकिन हैरानी की बात यह है कि स्वीमिंग पूल में एक बच्चा भी साथ में है। डीएसपी बच्चे के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकत करने में मस्त हैं। वीडियो वायरल होते ही डीजीपी एमएल लाठर ने डीएसपी को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस संदर्भ में अजमेर आईजी एस. सेंगाथिर का कहना है कि जांच के बाद डीएसपी को सस्पेंड किया गया है। अभी विभागीय जांच जारी है। तो वहीं डीएसपी हीरालाल सैनी का कहना है कि वे महिला को नहीं जानते हैं। वीडियो पूरी तरह से फेक है। इसे एडिट करके वायरल किया जा रहा है। मामले में महिला कांस्टेबल ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में बताया कि कोई उनका फेक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा है। एनएनएच न्यूज इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

शास्त्री नगर थाना पुलिस को मिली सफलता: चिकित्साकर्मियों से मारपीट के मामले में दो आरोपियों को दबोचा

राजधानी जयपुर जिले के शास्त्री नगर थाना इलाके में स्थित सरकारी हॉस्पिटल में 2 दिन पूर्व चिकित्साकर्मियों से हुई मारपीट के मामले में शास्त्री नगर थाना पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि वैक्सीनेशन के दौरान चिकित्साकर्मियों से मारपीट हुई थी उसके बाद से ही नर्सिंग कर्मियों का प्रदर्शन करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग चल रही थी। मुकदमा दर्ज होते ही शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को धर दबोचा है। पकड़े गए आरोपियों का नाम आलोक त्रिवेदी और रोहन सिंह है, जिनसे पुलिस की पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि यह पूरी कार्रवाई शास्त्री नगर थाना अधिकारी दिलीप सिंह शेखावत के नेतृत्व में उनकी टीम ने अंजाम दिया है।

RAA की प्रदेश स्तरीय बैठक हुई आयोजित, 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए संयोजक नियुक्त

देवेंद्र शर्मा... जयपुर। राजस्थान एकाउन्टेन्ट्स एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय बैठक में संगठन के 5 सूत्रीय मांग पत्र को सरकार से मनवाने के लिए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति का संयोजक बीकानेर के श्रीलाल भाटी को बनाया गया है। संघर्ष समिति संयोजक श्रीलाल भाटी ने विभिन्न जिला शाखाओं को प्रतिनिधित्व देते हुए प्रदेश स्तरीय संघर्ष समिति की घोषणा की है। जिसमें संजय जैन, जयपुर को सचिव एवं 07 उप संयोजक 09 सह संयोजक 01 उपसचिव, वित्त प्रभारी शधनेश सेठी, मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल सहित 14 सदस्यों का मनोनयन किया गया है। साथ ही संघर्ष समिति संयोजक भाटी के संगठन की 05 सूत्रीय मांगों की पूर्ति हेतु सरकार की उदासीनता को देखते हुए आंदोलन के प्रथम चरण की घोषणा की गई है। इसी क्रम में आज प्रदेश सचिव संजय जैन के नेतृत्व में शिष्ट मण्डल निदेशक कोष एवं लेखा विभाग, जयपुर से मिला तथा संगठन की मांगो पर शीघ्र कार्यवाही हेतु निवेदन किया। इस दौरान मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल ने बताया कि शीघ्र ही चरण बद्ध आंदोलन प्रारम्भ किया जायेगा, जिसमें  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मागों की पूर्ति के संबंध में ट्वीट करना सरक