आखिर मिल ही गई चोरी हुई 150 साल पुरानी किताबें, उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ नेता व सांसद की यूनिवर्सिटी से हुई बरामद

उत्तर प्रदेश के रामपुर में जौहर यूनिवर्सिटी पर प्रशासन ने जब छापा मारा तो इस दौरान पुलिस को करीब 300 किताबें। वहीं इसकों लेकर पुलिस का कहना है कि ये किताबें चोरी की गई थीं। पुलिस ने बताया कि ये किताबें करीब 100 से 150 साल पुरानी हैं।
 
इस मामले में अब तक यूनिवर्सिटी के 4 कर्मचारियों को हिरासत में लिया गया है।पुलिस कप्तान अजय पाल शर्मा का कहना है कि 1774 में रामपुर में स्थापित मदरसा आलिया से प्राचीन पुस्तकें चोरी हुई थीं जो कि जौहर यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी से   बरामद हुई हैं।
 
बताया जा रहा है कि जौहर यूनिवर्सिटी समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद आजम खान की है। इस वक्त यूनिवर्सिटी के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक मदरसा आलिया की किताबों की गुमशुदगी को लेकर ये छापा मारा गया है।
 
जौहर यूनिवर्सिटी के अंदर बनी मुमताज सेंट्रल लाइब्रेरी में सीओ समेत पुलिस अधिकारी जांच कर रहे हैं। पुलिस ने यहां से 4 लोगों को हिरासत में लिया है। मौके पर पुलिस अधीक्षक अजयपाल शर्मा और अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हैं।
 
by:aajtak