सियावा गणगौर मेले में उमड़े आदिवासी,गुजरात-राजथान से उमड़े वनवासी

अशोक कुमावत (ब्यूरो चीफ) सिरोही— जिले के आबूरोड तहसील के सियावा गांव में आज आदिवासी गरासिया समाज का दो दिवस गणगौर मेले का आगाज हुआ। राजस्थान और गुजरात के विभिन्न आदिवासी बहुल गांवों से आदिवासी समाज के लोगों की आवाजाही शुरू हो गई। मेले के लिए आदिवासी लोग बड़ी संख्या में मेला स्थल पर पहुंच रहे हैं। 
 
सियावा नदी के दोनों तरफ मेले का आयोजन होता है और मुख्य आकर्षण गणगौर पूजा रहती है। आदिवासी महिलाएं माथे पर गणगौर उठाकर पारंपरिक तरीके से वेशभूषा में चलती है और गणगौर पूजन के दौरान नृत्य करती नजर आती है। इस मेले में प्रेम विवाह भी होता है।
 
मेले को लेकर के दोनों तरफ बेरिकेड लगाकर व्यवस्था की गई है, वाहनों की आवाजाही के चलते मार्ग पर जगह-जगह पुलिसकर्मी भी तैनात नजर आ रहे हैं। वहीं मेले में पिंडवाड़ा विधायक समाराम गरासिया, रेवदर विधायक जगसीराम कोली मेला स्थल पर पहुंचे।